Har Sitam Seh Kar Ki

Hindi Dard Shayari

-

Har Sitam Seh Kar Ki

Har Sitam Seh Kar Kitne Gham Chipaye Humne
हर सितम सह कर कितने ग़म छिपाये हमने,

तेरी खातिर हर दिन आँसू बहाये हमने,

तू छोड़ गया जहाँ हमें राहों में अकेला,

बस तेरे दिए ज़ख्म हर एक से छिपाए हमने|

Get Latest SMS/Poetry in your email address :


Similar Hindi Dard Shayari